Solar Panel Business Kaise Suru Kare

By | October 3, 2022

Solar Panel Business Kaise Suru Kare :- Solar Energy और Solar Panel यह Term आज के जमाने में अंजाना क्या नया तो नहीं है आपने इसके बारे में कम या ज्यादा जरूर से सुना या पढ़ा होगा | आजकल तो Solar Panel कितने Common हो गए हैं कि यह हर कहीं हमें दिख जाते हैं  | कहीं बिजली के खंभों पर, कहीं किसी की छत पर, कहीं  सरकारी इमारतों पर या कहीं किसी पावर प्लांट में | बिजली का खर्च बचाने के लिए आज के दिन यह एक बहुत ही सस्ता Popular और भरोसेमंद Technology है आज के इस Article में आप यह जानेंगे कि Solar Panel Business Kaise Suru Kare ? 

Solar Panel Business Kaise Suru Kare

Solar Panel Business Kaise Suru Kare

Solar Energy या सौर ऊर्जा सूरज से आने वाली रोशनी और गर्मी है | जिसे सोलर पैनल में स्टोर किया जाता है और इससे रोजमर्रा के हर वो काम किए जा सकते हैं जो हम बिजली से करते हैं | यानी कि बल्ब, Freeze, Iron, Fan आदि| ये सब Basic Electronic चीजें हैं जो बिजली से चलती है | उन सबको Solar Energy से पैदा हुई बिजली से चलाया जा सकता है | विदेशों में तो Solar Energy का इस्तेमाल इतना ज्यादा है कि सोलर कुकर, Solar Dryer, Solar Street light, Solar Traffic Light, Solar Phone Charger, Solar Pawerd Fan और भी न जाने क्या-क्या Solar Energy से चलाए जाते हैं | Renewal Energy Investment के मामले में India दुनिया के तीसरे पायदान का देश है |  वैसे काम कैसे करता है यह Solar Panel आइये जानते है |

Solar Panel कैसे काम करता है ?

जो solar Panels आप लोग देखते हैं उनमें फोटोवॉल्टिक सेल लगे होते हैं | जिनमें सूरज की रोशनी पढ़ते ही सूरज की किरणों में मौजूद Photons को PV Cell से direct current पर बदलने के लिए Electrons बना देता है | PV Cells में बहुत से Electronic Wire होते हैं जो Direct Current को inverter में भेजता है और उसे Alternative Current यानी कि AC बना देता है | जिसे इस्तेमाल किया जाता है |

Cast Effective और प्रदूषण मुक्त होने के चलते Solar energy बहुत ज्यादा Demand में है इसलिए Government भी लोगों से अपील करती है कि वह सौर ऊर्जा को अपनाएं इसलिए Solar Panel पर Subsidy भी दी जाती है |

Solar Panel Business License :

License की बात करें तो इस business को शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले Business Registration करवाना होगा | जिसके लिए आप Private Limited Company, Limited Loyalty Partnership, One person Company या Pertnership Firm जैसे options  को चुन सकते हैं इस Businesses में Ternover 20 Lakhs के पार आराम से चला जाएगा इसलिए GST Number जरूर से ले लीजिएगा |

इसके अलावा कंपनी के नाम पर ही आधार नंबर लेना होगा जिसे उद्योग आधार कहते हैं | Solar Panel जैसी High Technology के Product का Standard बहुत ही high होता है और इनको export भी किया जाता है इसलिए ISO Certificate लेना जरूरी है |

Manufacturing Unit शुरू करने से पहले आपको Fire Department से fire safety license भी लेना होगा ताकि department के पुख्ता कर सके कि आपने आग बुझाने का सही इंतजाम किया है या नहीं | इसके अलावा Pollution Control Board से एक NOC भी ले लीजिएगा कि आपकी यूनिट से प्रदूषण नहीं फैल रहा है |

Raw Materials

Raw Materials की बात करें तो Solar Panels बनाने के लिए जरूरी Raw Material जो कि आपको लेने होंगे वह है : Solar Cell, Solar Glass, EVA Sheet, Back Sheet, Copper Ribbon, Aluminium Frame, Junction Box, Silicone Sealant आदि | Raw Material खरीदने के लिए आपको सही सप्लायर ढूंढने पड़ेंगे जो कि Domestic या International हो सकते हैं | Internet पर सर्च करके आपको ऐसे कई Supplier मिल जाएंगे लेकिन किसी एक सप्लायर से सामान ना लेकर के कई लोगों का Comparision देख लीजिए और उसके बाद ही ऐसा सप्लायर चुनिए जो आपको सही कीमत पर सामान दे | 

Solar Panel Making Process

Solar Panel में तो Cell Use होते हैं सबसे पहले Cell Tester Machine से उनकी Testing की जाती है कि वह सही से काम करेंगे या नहीं | उसकी बाद Panels की जो Cell है उन पर Stringer Machine से कॉपर वायर की सोलरीन की जाती है | आगे एलाइनमेंट सेगमेंट में नेगेटिव और पॉजिटिव सेल्स को आपस में जोड़ा जाता है और फिर उन EVS Sheets लगा दी जाती है | EVS Sheets से Panels में लचीलापन बना रहता है और आगे Iron Solding से इनमें connection जोड़े जाते हैं | इसके बाद कंपनी का Logo, Manufacturing Date, Bar Code, जरूरी details Print कर दिया जाता है |

अब बारी आती है EL Testing की तो जिससे पता लगाया जाता है कि Panel सही है या नहीं | ताकि उन्पहें हटा कर काम लायक cells लगाई जा सके | फिर Lamination Machine से Panels को लैमिनेट किया जाता है | लैमिनेट करने के लिए टेफलॉन शीट को Use किया जाता है |Lamination के बाद extra बचे Teflon Sheets को काट दिया जाता है और Solar Panels के चारों तरफ एल्युमीनियम का frame लगा दिया जाता है ताकि नुकसान ना पहुंचे |

इतना कुछ होने के बाद पावर सप्लाई के लिए इनमें जंक्शन बॉक्स लगा दिया जाता है और Finaly Sun semulator Machine से इसकी Testing की जाती है और सही प्रोडक्शन निकलने पर Packaging करके Solar Panels को supply कर दिया जाता है | Solar Panels Manufacturing कुछ ऐसे की जाती है कि ये लगभग 20 से 25 साल तक चलते हैं और जिस भी कंपनी से आपने अपने घर पर Solar Panels लगवाया होता है वह उसकी वारंटी भी देते हैं |

Machine and Tools

Solar Panel Manufacturing Unit लगाने के लिए Cell Teszting Machine, Laser Cutting machine, Solar Cell Stringer Machine, Soldering Machine, EL Testing Machine, Solar Panel Lamination MachineFraming Machine, Sun Simulator Testing Machine की जरूरत पड़ती है |

इन सभी मशीन को चलाने के लिए कम से कम 150 से 250 किलो वाट बिजली की जरूरत पड़ती है | Unit Setup जरूरी एरिया की बात की जाए तो यूनिट चलाने के लिए हमने जिन जरूरी मशीनों का जिक्र किया उन सभी को Fit करके Production चालू करने के लिए , Raw Materials Store करने के लिए, Packaging करने के लिए Testing करने के लिए लगभग 3 से 4000 SQ.Ft Area की जरूरत तो पड़ेगी|

Large Scale पर किया जाए तो एक Solar Panel Manufacturing Unit में कम से कम 20-25 Skilled Professional, 15 से 20 unskilled लोग और 10 हेल्पर की जरूरत तो पड़ेगी ही | किसी भी दूसरे Business के Comparision में सोलर पैनल मैन्युफैक्चरिंग का Business काफी खर्चीला है | इस यूनिट की setup करने के लिए जरूरी मशीन की कीमत ही 4 से 5 करोड़ तक पहुंच जाती है और पूरी यूनिट लगाने में कम से कम 10 से 12 करोड़ की Investment तो चाहिए ही क्योंकि unit को चलाने के लिए भी काफी staff और Technician की जरूरत पड़ती है | जिनकी Salary पर भी काफी खर्चा आएगा |

Plant में लगने वाली मशीन की कीमत उनकी Quality और Production capacity पर depend करेगी | तो इतनी बड़ी रकम के लिए आपको या तो Investor ढूंढना पड़ेगा या फिर बैंक से लोन लेना होगा |

Profit

Profit की बात की जाए तो Solar Panel के business में होने वाले फायदे को इस तरीके से गिना जाता है कि हर चैनल पर 5 से 7% का Margin बैठता है मतलब जितना ज्यादा आप अपना Customer Base बढ़ा पाएंगे उतना ही ज्यादा आप फायदे में रहेंगे | अगर आप Solar Panel का Business Setup करने के लिए तैयार है तो आप Central government के Instittute of Industrial Development से Help ले सकते हैं अधिक जानकारी के लिए आप www.iid.org.in पर visitकर सकते हैं |

Also Read : Packaged Drinking Water Business Kaise Suru Kare

2 thoughts on “Solar Panel Business Kaise Suru Kare

  1. Pingback: How to gain Respect from Others in 2022 - VentoLineRol

  2. Pingback: How to be Consistent in 2022 in Hindi - VentoLineRol

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *