Packaged Drinking Water Business Kaise Suru Kare

By | October 1, 2022

Packaged Drinking Water Business Kaise Suru Kare :- एक जमाना था जब लोग सड़क किनारे लगे नल से, गांव के कुएं से, रास्ते के किनारे वाले होटल या ढाबे से प्यास लगने पर पानी लेकर या मांग कर पी लेते थे | लोग आज भी ऐसा करते हैं पर किसी ने कभी सोचा नहीं था कि 1 दिन ऐसा भी आएगा जब लोग पानी खरीद के पियेंगे |

Packaged Drinking Water Business Kaise Suru Kare

Packaged Drinking Water Business Kaise Suru Kare

जब बिसलेरी ने Packages Drinking Water का concept India में लाया कि वह बोतल बंद पानी बेचेंगे तो लोगों को लगा था कि आखिर लोग पानी खरीद कर क्यों पिएंगे जबकि यह हमें कहीं भी फ्री में मिल जाता है | पर आज India में Packages Drinking WAter का ख्याल आते ही सबको सबसे पहले बिसलेरी का नाम याद आता है इसलिए आज के इस Case Study Article में हम बात करेंगे कि Packaged Drinking Water Business Kaise Suru Kare |

Packaged Drinking Water Business Kaise Suru Kare

अगर आप कोई भी Company सुरु करने के बारे सोचते है तो सबसे पहले Certification और License की बात सबसे पहले आती है तो Certification and License की बात करें तो किसी भी Company को चलाने के लिए आपको कई सारे certificate और License हासिल करने पड़ते हैं | अब अगर बात कंपनी Registor करवाने की हो तो LLP , Firm, Private Limited company, One Person Company के रूप में आप Registor करवा सकते है |

इसके अलावा Miniral Water Plant खोलने के लिए जो License और Certificates चाहिए वह है ISI Certification, FSSAi License, Certification of Pollution Control, Test reports of water from an Authorized Laboratory और Tsst Control Certificate | अब अगर हम जाने FSSAI से License कैसे लेना है तो इसकी जानकारी आपको इनकी वेबसाइट पर मिल जाएगी | इसके बाद चाहिए आपको SSI यानि Smal Scale Industry Registration जो छोटे scale पर business करने वालों को लेना पड़ता है ताकि Government  की तरफ से कोई Benefit Scheme Lanch हो तो उसका सीधा फायदा आपको मिल सके | तो SSI License को लेना वैसे Mendetory तो नहीं है अनिवार्य नहीं है पर बनवा लेने में भी कोई बुराई नहीं है |

अब आगे BIS यानि Bureau of Indian Standards की बात करें तो यह वाला License भी लेना काफी जरूरी है क्योंकि Government ये देखती है कि Plant में बना product quality के लिहाज से सही भी है या नहीं | तो BIS Certificate मिलने के बाद आपको Raw और Processed Water का भी एक Test Report भी आपको BIS से लेना पड़ता है | इसके अलावा Trademark Registration भी करवाना पड़ता है जो अनिवार्य तो है नहीं और करवा लेना हमेशा अच्छा होता है ताकि आपके नाम से कोई दूसरा Brand या Product ना निकले |

Local Authority से Vendor license और State Health Department से Business Permit लेना जरूरी है | अलग-अलग राज्यों में यह सभी लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस अलग हो सकता है और फीस भी अलग लग सकती है |

Department of Legal Metrology यानी की बाट माप विभाग से लाइसेंस लेना जरूरी है | जो साबित करेगा कि आपकी की दी हुई चीजों का वजन सही है |

Raw Material and Machines

अब Raw Material और Machinary की बात करें तो इस business में पानी ही Raw Material है इसके अलावा पानी को प्यूरिफाई करने के लिए कुछ chemicals की जरूरत पड़ती है जहां तक बात रही मशीनरी की तो Raw Water Pump, Crual Media Filter, Carbon Filter, Micron Cartage Filter, Anti Scalen Dosing System, Reverce Osmosys System RO,Water Storage Tank, Transfer Firm, Ozone System, UV System, Ozone Storage Tank and Recirculation Line जैसी मशीन की जरूरत पड़ती है |

पानी की बोतल जिसे आप Market से Wholesale पर खरीद सकते हैं या फिर अपनी खुद की manufacturing भी करवा सकते हैं | दूसरे तरीके में आपको ज्यादा फायदा है |

Investment :

Investment की बात करें तो अभी जो हमने मशीन का जिक्र किया उसके लिहाज से एक Miniral Water Plant लगाने के लिए 15 से 20 लाख का खर्चा आ जाएगा | Plant Installation, Staff की Salary, Working Capital Per Month, Production Target, Raw Materials और बाकी चीजों को मिलाकर के भी Investment काफी बढ़ जाता है |

अगर बहुत बड़ी Scale पर इस Business को शुरू किया जाए तो Yearly 40 से 50 लाख Annual Ternover कमाया जा सकता है | Plant Construction की बात की जाए तो अगर मीडियम साइज के प्लांट की बात करें तो 4000 से 5000 Sq.Ft Space तो आपको अपना प्लांट लगाने के लिए चाहिए ही होगा | जिसके बाद उस पर plant Construction का खर्चा आएगा | ये पूरी तरीके से आप पर depend करता है कि आप अपने प्लांट को कितना बेहतर secure और Quality वाला बनाएंगे जिसमें आपका investment कम या ज्यादा हो सकता है |

अगर प्लांट के लिए जमीन है तो कोई बात नहीं वरना जमीन खरीदने या लीज पर लेने का खर्चा भी बिजनेस कैपिटल में जुड़ जाएगा | Water Supply की बात करें तो plant बनवाते समय आपको एक बोरवेल खुदवाना पड़ेगा ताकि Plant में पानी की Supply होती रहे | इसी पर आपके Plant का Production Depend करेगा | वैसे Normally 1 महीने के अंदर 5000 से 10000 Carton पानी के बोतल का प्रोडक्शन आराम से हो जाता है |

Electricity :

Electricity की बात करे तो प्लांट पर लगी मशीन चलाने के लिए आपको कम से कम 150 किलो वाट का इलेक्ट्रिक कनेक्शन चाहिए होगा ताकि सभी उपकरण सही से चल सके और बिजली गुल होने पर या Pawer Failure के समय आपके पास जनरेटर या पावरफुल इनवर्टर का इंतजाम होना चाहिए ताकि प्रोडक्शन का काम बिना रुके चलता रहे |

Men Pawer की बात करी तो एक मीडियम साइज का प्लांट कम से कम 15 से 20 या जरूरत के लिहाज से कम या ज्यादा Men Pawer की डिमांड करता है | जिसमे सुपरवाइजर, Worker, Helpers, Lab Technician लगते हैं | इनके अलावा भी इलेक्ट्रीशियन, IT Sales and Marketing, Labor, Driver, Security Gaurd, Admin Accountant, Office Boy जैसी post पर लोग आपको रखने पढ़ सकते हैं |

Transport की बात करें तो प्लांट या फैक्ट्री से निकले प्रोडक्ट को Market, Distributor, Wholesale, Retailer तक पहुंचाने के लिए या दूसरे राज्यों के export करने के लिए आपको अपने पास Three Wheeler या Four Wheeler Transport का इंतजाम होना चाहिए ताकि डिमांड और सप्लाई में कोई भी रुकावट ना आए |

अब Packaging and Labeling की बात की जाए तो Packaging और Labeling के लिए Printed Material का भी खर्चा आएगा | Branding, Marketing और Advertisement पर भी आपको Budget Decide करके रखना होगा क्योंकि बिना advertising के product को market में popular करना बहुत ही मुश्किल काम है | इसके लिए आप हर तरह का मीडिया और Social Media Promotion करवा सकते हैं |

Also Read : 

One thought on “Packaged Drinking Water Business Kaise Suru Kare

  1. Pingback: Solar Panel Business Kaise Suru Kare - VentoLineRol

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *