How to Become Cinematographer in 2022

By | August 28, 2022

How to Become Cinematographer in 2022 :- Movies देखना तो हम सभी को पसंद होता है और अक्सर हम फिल्म की Actors, Directors और Producers के बारे में ही ज्यादा बातें करते हैं और फिल्म की success का क्रेडिट भी उन्ही को दिया करते हैं| लेकिन शायद आप यह नहीं जानते कि इस फिल्म के बनने में कितने सारे लोगों का कॉन्ट्रिब्यूशन होता है और Filmmaking में एक कैसा ही Major Role सिनेमैटोग्राफर का हुआ करता है लेकिन यह सिनेमैटोग्राफर कौन होता है और यह सिनेमैटोग्राफी क्या है आइए जानते हैं |

How to Become Cinematographer

How to Become Cinematographer

Also Read : How to become a Full Stack Developer

What is Cinematographer ?

सिनेमैटोग्राफी Filmmaking का एक ऐसा Integral Part है जो Visual Elements को मैनेज करता है | सिनेमा की यह ब्रांच काफी टफ होती है और स्क्रीन पर जो भी विजुअल एलिमेंट्स दिखाई देते हैं वह सब सिनेमैटोग्राफी की बदौलत ही पॉसिबल हो पाते हैं | सिनेमैटोग्राफी में invalved Technical Produre में स्क्रीन पर दिखने वाले सारे Visual Effects, Camera Movement, Lighting, Came4ra Angles, Lens, Filters, Focus Color Exposer etc यह सब शामिल होते हैं |

Cinematographer वह Person होता है जो वीडियो मूवी या शॉर्ट फिल्म की filming के लिए रिस्पांसिबल होता है | लाइटिंग कैसे होगी प्रॉप्स का प्लेसमेंट कैसा होगा | एक्ट्रेस कैसे दिखाई देंगे और ऐसा सब कुछ जो स्क्रीन पर दिखाई देगा उन सब के इंचार्ज सिनेमैटोग्राफी होते हैं | और ये Role इतना Important होता है कि बिना सिनेमैटोग्राफर की कोई भी Motion Picture Capture करना इंपॉसिबल होगा | सिनेमैटोग्राफर को डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी कहा जाता है |

Cinematographer ही वह Person होता है जो डायरेक्टर के विजन को अपनी आर्टिस्टिक्स Skills क्रिएटिविटी और टेक्निकल नॉलेज के दम पर रियालिटी में बदलता है | सिनेमैटोग्राफर ही यह तय करने में हेल्प करते हैं कि स्क्रीन पर पिक्चर कैसी दिखाई देगी, कौन से एंगल से शूट किया जाना चाहिए | लाइटिंग और सेट डिजाइन कैसा होना चाहिए | सिनेमैटोग्राफर्स अकेले काम नहीं करते हैं बल्कि उन्हें लाइट टेक्नीशियन, Set Designers और Directors की टीम के साथ मिलकर के काम करना होता है |

अब अगर आप भी Cinematographer बनने का इरादा रखते हैं और फिल्म इंडस्ट्री में एक सिनेमैटोग्राफर के तौर पर अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आपको पता होना चाहिए कि इस पोजीशन तक कैसे पहुंचा जा सकता है और इस फील्ड में आपके लिए कितना स्कोप अवेलेबल है इसलिए आज इस article के जरिए हम सिनेमैटोग्राफर बनने से जुड़ी सारी जानकारियां आप तक पहुंचाएंगे तो इस article को जरूर लास्ट तक देखिएगा तो चलिए शुरू करते हो सबसे पहले सिनेमैटोग्राफिक जॉब रिस्पांसिबिलिटीज के बारे में जानते हैं |

Cinematography Job Responsibility :

Storyline, Charector, Screenplay और फिल्म में involved पैरामीटर्स की स्टडी और एनालिसिस करना और उसके base पर अपना creative visual element प्रोवाइड करना, सीन की शूटिंग से रिलेटेड शॉर्ट्स क्लाइमेट कंडीशन अवेलेबल साइट्स और बाकी जरूरी aspects की research करना, Movie Sets के लिए relavent Tools and equipment pick करना actors की कॉस्ट्यूम्स Hair, Makeup, पोस्टर कलर कॉन्बिनेशन को फाइनलाइज करना| Team Members को एडवाइस देना ताकि सीन शूट करने पर Desired रिजल्ट मिल सके और इस तरीके से पूरी film में visual impact का मूड मेंटेन रखने का भार सिनेमैटोग्राफर के कंधों पर होता है | तो यहां तक जान लेने के बाद अब आगे सिनेमैटोग्राफी के पॉपुलर कोर्स के बारे में जान लेना भी आपके लिए फायदेमंद रहेगा तो आइये इसके बारे में जानते हैं |

Popular Courses :

सर्टिफिकेट कोर्स की duration 6 महीने से 1 साल तक होती है डिप्लोमा और पीजी डिप्लोमा की duration 1 से 2 साल तक होती है | यूजी कोर्स 3 से 4 साल की duration का होता है और पीजी कोर्स duration 2 साल होती है | इन कोर्सेस के लिए क्राइटेरिया की बात करें तो सर्टिफिकेट कोर्स करने के लिए आपका किसी रिकॉग्नाइज्ड बोर्ड से 10+2 class किसी भी Stream से पास करना जरूरी है |

डिप्लोमा कोर्स और यूजी कोर्स में एडमिशन के लिए भी सेम कंडीशन अप्लाई होती है जबकि पीजी कोर्स में एडमिशन के लिए आपका Cinematography या Similar स्ट्रीम में ग्रेजुएट होना जरूरी है |

Fees –

जहां तक इन कोर्स की फीस की बात है तो सर्टिफिकेट कोर्स की फीस ₹100000 तक हो सकती है और डिप्लोमा कोर्स की फीस ₹500000 तक | UG कोर्स की फीस ₹200000 तक हो सकती है तो पीजी कोर्स की ₹500000 तक | इन courses को ऑनलाइन भी किया जा सकता है जिसके लिए आप Udemy, Coursera, EDX, Lynda.com जैसे options में से  choose कर सकते हैं आपको फ्री और पेड दोनों तरह के कोर्स मिल जाएंगे |

Entrance Tests :

आपको यह भी पता होना चाहिए कि आपके सेलेक्ट किए गए कोर्स और कॉलेज के अकॉर्डिंग आपको एंट्रेंस टेस्ट भी देना पड़ सकता है तो इसीलिए आपको उसके लिए अच्छे से तैयारी करनी होगी | Cinematographer बनने के लिए रिक्वायर्ड एजुकेशन के बारे में तो आपने जान लिया | यानि इस Field में डिप्लोमा या डिग्री लेकर आप इस फील्ड का basic and theoratical aspects अच्छे से समझ जाएंगे और अगर आप एक अच्छे कॉलेज से course करेंगे तो वहां पर आपको प्रैक्टिकल नॉलेज भी अच्छी मिल जाएगी जो आपके Career को जरूर से सपोर्ट करेगी लेकिन सिनेमैटोग्राफर बनने के लिए बस इतना ही काफी नहीं होगा बल्कि सिनेमैटोग्राफर की पोजीशन पर पहुंचने के लिए आपके पास कैमरा ऑपरेटिंग एक्सपीरियंस होना चाहिए | लाइटिंग और फोटोग्राफी की नॉलेज और एक्सपीरियंस भी रिक्वायर्ड होता है | इसलिए हो सकता है कि इस फील्ड में एंटर होने के लिए आपको कैमरा ऑपरेटर के तौर पर शुरुआत करनी पड़े लेकिन आप यह जानकर खुश हो सकते हैं कि आजकल फिल्म और कमर्शियल इंडस्ट्रीज Business का एक्सपेंशन होने से सिनेमैटोग्राफर्स की डिमांड काफी ज्यादा बड़ी है |

इसका मतलब यह हुआ कि अगर आपमें Talent है तो आपको चांस पक्के से मिल जाएगा | लेकिन zero Experience के साथ आप डायरेक्ट सिनेमैटोग्राफर तो नहीं बन सकते हैं ना इसलिए आपको असिस्टेंट सिनेमैटोग्राफर के तौर पर फिल्म इंडस्ट्री को ज्वाइन करना होगा और इस पोजीशन पर रहते हुए कैमरा हैंडलिंग और शॉर्ट्स को capture करने की न्यू डाइमेंशंस को सीखना होगा और जितना जल्दी आप यह सब सीख जाएंगे आपको एक्सपीरियंस और Skills भी बढ़ती जाएगी और सिनेमैटोग्राफर बनने के चांसेस भी |

इसके अलावा आपका creative vision आपको इस Position तक पहुंचाने में हेल्प करेगा | और अब सिनेमैटोग्राफर्स का work area फिल्म इंडस्ट्री तक ही सीमित नहीं रह गया है बल्कि अब तो सिनेमैटोग्राफर्स टीवी और वेब सीरीज डॉक्यूमेंट्री शॉर्ट फिल्म्स स्टूडियो और वीडियो बिजनेस में भी काम कर सकते हैं और इंडिया के बाहर भी ऐसे जॉब ऑप्शन सर्च कर सकते हैं और जहां तक बात है सिनेमैटोग्राफर्स के लिए main जॉब प्रोफाइल कि तो Director of Photography, Video Editor, Cameraman, videographer.

सिनेमैटोग्राफर डिफरेंट प्रोजेक्ट पर फ्रीलांस वर्क भी कर सकते हैं लेकिन आपके लिए यह समझना भी बहुत जरूरी है कि आप फिल्म इंडस्ट्री के glamour से अट्रैक्ट होकर सिनेमैटोग्राफर बनने का प्लान बिल्कुल मत बनाइएगा बल्कि आप यह जस्टिफाई करने के लिए अगर यह प्रोफेशन सूटेबल लगे तो ही इसमें आगे बढ़ने का सोचिएगा क्योंकि हर area की तरह इस एरिया में भी आपको Scope तो बहुत मिलेगा | Earning भी काफी अच्छी हो जाएगी लेकिन स्ट्रगल भी कम नहीं होगा और अगर आपमें Unique Talent Knowledge होगी तो ही आप तेजी से इस एरिया में प्रोग्रेस कर पाएंगे और इस जॉब में Long Hours और Late Night Work के लिए तो आपको तैयार रहना ही होगा इसे एक दोस्त का suggetion मानकर इस बारे में पहले सोचिएगा फिर action लीजिएगा |

Cinematographer Salary

अब अगर आप यह जानना चाहते हैं कि सिनेमैटोग्राफर को कितना सैलरी पैकेज ऑफर होता होगा जब इतनी मेहनत है तो यह बताना मुश्किल है क्योंकि इस तरह के creative work में कोई फिक्स सैलरी पैकेज नहीं होता है | यह सैलेरी candidate के जॉब प्रोफाइल  work experience, Knowledge, Skills स्पेशलाइजेशन और इंडस्ट्री टाइप से अफेक्टेड होती है हां यह बताना आसान है कि Film Unix में होने वाली earning business से ज्यादा ही होती है फिर भी अंदाजे से बता सकते हैं कि एक सिनेमैटोग्राफर को मिलने वाली एवरेज स्टार्टिंग सैलेरी ₹360000 हो सकती है |

Conclusion –

इस तरह अब आपके पास सिनेमैटोग्राफर बनने से जुड़ी सारी जरूरी जानकारियां आ गई है जिनका यूज करके आप अपने लिए इस प्रोफेशन की worth पता लगा सकते हैं या फिर आसपास कोई इस बारे में कुछ सोच रहा है उसका आईडिया है कि शायद जाया जाए तो प्लीज आप उसके साथ इस article को जरुर शेयर कीजिएगा क्योंकि सही जानकारी का होना बहुत जरूरी है | वैसे इसी के साथ यह जानकारी और यह article आपको कैसा लगा कमेंट बॉक्स में लिख करके आप जरूर शेयर कीजिएगा | 

Also Read : What is Software Testing : Bug Boundy in 2022

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *